khabar7 logo
chattisgarh

हिमाचल : मुख्यमंत्री पद को लेकर, पर्यवेक्षकों के सामने भिड़े धूमल और जयराम के सहयोगी, किया प्रदर्शन !!

by Khabar7 - 22-Dec-2017 | 12:00:51
 हिमाचल : मुख्यमंत्री पद को लेकर, पर्यवेक्षकों के सामने भिड़े धूमल और जयराम के सहयोगी, किया प्रदर्शन !!

 22 दिसंबर 2017, 

चंडीगढ़ !!

हिमाचल प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. पूर्ण बहुमत के साथ जीतकर आई BJP CM पद को लेकर फंस गई है. पार्टी ने निर्मला सीतारमण और नरेंद्र तोमर को पर्यवेक्षक बनाकर भेजा है लेकिन गुरुवार को BJP पर्यवेक्षकों के संग हुई बैठक बेनतीजा रही. प्रेम कुमार धूमल और जयराम ठाकुर के समर्थकों में जमकर नारेबाजी और शक्ति प्रदर्शन हुआ. दिल्ली से आए BJP पर्यवेक्षकों केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री पद के दावेदारों और पार्टी पदाधिकारियों के बीच गुरुवार 21 दिसंबर की शाम को शिमला में हुई बैठक बेनतीजा रही.

धूमल के बेटे अनुराग नही बनें बैठक का हिस्सा !

सूत्रों के मुताबिक पर्यवेक्षकों ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, सिराज के विधायक जयराम ठाकुर, शिमला शहरी क्षेत्र के विधायक सुरेश भारद्वाज, पार्टी अध्यक्ष सतपाल सत्ती और नाहन के विधायक डॉक्टर राजीव बिंदल से अकेले में बातचीत की. इसके बाद पर्यवेक्षकों की सांसदों के साथ-साथ एक एक कर बैठक भी हो रही है लेकिन खबर है कि पार्टी सांसद और धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर मीटिंग में नहीं पहुंचे हैं.

धूमल-जयराम समर्थकों के बीच नारेबाजी !

उधर बैठक के दौरान ही प्रेम कुमार धूमल और जय राम ठाकुर के समर्थकों ने जमकर शक्ति प्रदर्शन किया. पर्यवेक्षकों के सामने नारेबाजी हुई और दोनों पक्षों ने अपनी ताकत दिखाई. जिससे प्रतीत होता है कि प्रेम कुमार धूमल और उनके समर्थकों ने अभी घुटने नहीं टेके हैं. धूमल से जब यह पूछा गया कि क्या वह मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल हैं तो उनका जवाब था कि उन्होंने आज तक मुख्यमंत्री पद के लिए दौड़ नहीं लगाई है.

हिमाचल के CM को लेकर तीन खेमों में बंटी पार्टी !

साफ है भारतीय जनता पार्टी मुख्यमंत्री पद को लेकर तीन खेमों में बंटी हुई है. एक तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा का खेमा, दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का खेमा और अब जयराम ठाकुर का खेमा भी इस दौड़ में शामिल हो गया है.

धूमल के लिए तीन विधायक सीट छोड़ने को तैयार !

कुल मिलाकर केंद्रीय पर्यवेक्षक मुख्यमंत्री के नाम पर एक राय नहीं बना पाए और अब गेंद BJP के शीर्ष नेतृत्व यानी पार्लियामेंट्री बोर्ड के पाले में है. इसका मतलब है कि हिमाचल के मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा दिल्ली से होगी. हालांकि चुनाव हारने के बाद प्रेम कुमार धूमल की दावेदारी कमजोर पड़ी है, लेकिन उनके समर्थक उनको मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठना चाहते हैं. इसलिए तीन विधायकों ने उनके लिए अपनी सीट छोड़ने की घोषणा भी की है.

CM के नाम पर फिर होगी BJP की बैठक !

केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वह हिमाचल प्रदेश के विधायकों की राय जानने शिमला आई हैं और मुख्यमंत्री के नाम पर अंतिम फैसला पार्टी का पार्लियामेंट्री बोर्ड तय करेगा. इस सिलसिले में केंद्रीय पर्यवेक्षकों की शुक्रवार 22 दिसंबर को भी BJP सांसदों और विधायकों के साथ फिर बैठक होगी.

Share: