27 फरवरी से बन रहा है पंचग्रही योग , जानिए क्या होगा आपकी राशि पर असर !!

नई दिल्ली !!
27 फरवरी रविवार को दोपहर 2 बजकर 23 मिनट पर चन्द्र,मंगल, बुध, शुक्र और शनिदेव के एक साथ मकर राशि में इकठ्ठा होने के परिणामस्वरूप पंचग्रही योग का निर्माण हो रहा है। 29 फरवरी को शाम 4 बजकर 32 मिनट पर चंद्रमा के कुंभ राशि में प्रवेश के साथ ही पंचग्रही योग भंग हो जाएगा। मेदनी ज्योतिष की दृष्टि यह योग कदापि अच्छा नहीं है। इन ग्रहों का एक साथ एक ही राशि में आने से कई राशियों पर अच्छे-बुरे प्रभाव दिखाई देंगे। सभी राशियों के लिए इस योग का प्रभाव कैसा रहेगा इसका ज्योतिषी विश्लेषण करते हैं।

मेष राशि
राशि से दशम कर्मभाव में बन रहा पंचग्रही योग कार्य व्यापार की दृष्टि से तो अच्छा रहेगा किंतु अपनी जिद और आवेश को नियंत्रित रखते हुए कार्य करेंगे तो अधिक सफल रहेंगे। उच्चाधिकारियों से संबंध बिगड़ने न दें। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित कार्यों में थोड़ा और समय लगेगा। हताश न हों माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहें।

वृषभ राशि
राशि से नवम भाग्य भाव में बन रहा पंचग्रही योग कई तरह के अप्रत्याशित उतार चढ़ाव का सामना करवाएगा। हो सकता है कार्य में थोड़ा विलंब हो किंतु सफलता मिलेगी । धर्म और अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। विदेशी कंपनियों में सर्विस अथवा नागरिकता के लिए किया गया प्रयास भी सफल रहेगा। अपने साहस के बल पर कठिन परिस्थितियों पर भी विजय प्राप्त करेंगे।

मिथुन राशि
राशि से अष्टम आयु भाव में बन रहा पंचग्रही योग भारी उतार-चढ़ाव ला सकता है इस अवधि में बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य के प्रति अधिक सावधान रहने की आवश्यकता है। यात्रा सावधानीपूर्वक करें। वाहन दुर्घटना से बचें। कार्यक्षेत्र में भी षड्यंत्र का शिकार होने से बचें। व्यर्थ विवादों से दूर रहें और कोर्ट कचहरी के मामले भी बाहर ही सुलझाएं।

कर्क राशि
राशि से सप्तम दांपत्य भाव में बन रहा पंचग्रही योग कई तरह के अप्रत्याशित परिणाम दिलाएगा। शादी-विवाह से संबंधित वार्ता में थोड़ा और विलंब हो सकता है। दांपत्य जीवन में कटुता ना आने दें। इस अवधि के मध्य साझा व्यापार करने से बचें। ससुराल पक्ष से भी संबंध बिगड़ने न दें। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित कार्यों में थोड़ा और समय लगेगा।

सिंह राशि
राशि से छठे शत्रु भाव में बना हुआ पंचग्रही योग आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है।स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहना होगा किंतु कोर्ट कचहरी के मामलों में निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत। शत्रु परास्त होंगे। कोई भी बड़े से बड़ा कार्य आरंभ करना हो अथवा किसी नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से भी ग्रह गोचर बेहतरीन सफलता दिलाने वाला सिद्ध होगा।

कन्या राशि
राशि से पंचम विद्या भाव में बन रहा पंचग्रही योग विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वाले छात्रों को नई चुनौतियां पेश कर सकता है किंतु यह अधिक समय तक नहीं रहेगा । संतान संबंधी चिंता परेशान कर सकती है। प्रेम संबंधी मामलों में उदासीनता रहेगी। आय के साधन बढ़ेंगे किंतु साझा व्यापार से बचें। परिवार के वरिष्ठ सदस्यों तथा बड़े भाइयों से मतभेद गहरा सकता है।

तुला राशि
राशि से चतुर्थ सुख भाव में गोचर करते हुए पांच ग्रहों का एक साथ इकट्ठा होकर पंच ग्रही योग का निर्माण करना आपके लिए कुछ दिनों के लिए सावधानी बरतने की ओर इशारा कर रहा है। यात्रा सावधानीपूर्वक करें। वाहन दुर्घटना से बचें। सामान चोरी होने से भी बचाएं। मित्रों तथा संबंधियों से अप्रिय समाचार प्राप्ति के योग। जमीन जायदाद से जुड़े मामले हल होंगे। वाहन का क्रय के भी योग।

वृश्चिक राशि
राशि से तृतीय पराक्रम भाव में बन रहा पंचग्रही योग आपके लिए बेहतरीन सफलता दिलाने वाला सिद्ध होगा किंतु आपके स्वभाव में उग्रता आ सकती है इसलिए अपनी जिद और आवेश को नियंत्रित रखते हुए कार्य करेंगे तो अधिक सफल रहेंगे। परिवार में छोटे भाइयों से संबंध बिगड़ने न दें । साहस पराक्रम की वृद्धि होगी। लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना भी होगी।

धनु राशि
राशि से द्वितीय धन भाव में बन रहा पंचग्रही योग आपको कई तरह के अप्रत्याशित उतार-चढ़ाव का सामना करवाएगा। स्वास्थ्य विशेष करके दाहिनी आंख से संबंधित समस्या से सावधान रहें। शरीर में कैल्शियम की कमी न होने दें और जोड़ों में दर्द से संबंधित बीमारी से भी बचें। आकस्मिक धन प्राप्ति का योग बनेगा। काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद।

मकर राशि
आपकी राशि में बना हुआ पंचग्रही योग आपके स्वभाव में उग्रता ला सकता है इसलिए बहुत संयम बरतने की आवश्यकता है। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में किसी भी तरह के सरकारी टेंडर आदि का आवेदन करना चाह रहे हों तो उस दृष्टि से गोचर अनुकूल रहेगा। जमीन जायदाद से संबंधित मामलों का निपटारा होगा। मकान अथवा वाहन के क्रय का भी योग।

कुंभ राशि
राशि से बारहवें हानि भाव में बन रहा पंचग्रही योग बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता इसलिए इस अवधि में हर कार्य तथा निर्णय बहुत सोच समझ कर लें यात्रा सावधानी पूर्वक करें। वाहन दुर्घटना से भी बचें। इस अवधि के मध्य किसी को भी अधिक धन उधार के रूप में न दें अन्यथा दिया गया धन वापस मिलने में काफी समय लगेगा। कोर्ट कचहरी के मामले भी आपस में सुलझाएं|

मीन राशि
राशि से एकादश लाभ भाव में बना पंचग्रही योग आपके लिए बेहतरीन रहेगा। रोजगार की दिशा में किए गए प्रयास सफल रहेंगे। नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के भी योग । बड़े भाइयों से संबंध बिगड़ने न दें शिक्षा-प्रतियोगिता में अच्छी सफलता मिलेगी। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। नव दंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के योग। प्रेम संबंधी मामलों में उदासीनता रहेगी|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp