बंगाल निकाय चुनाव : ममता का जादू कायम, 107 में 93 निकायों पर TMC का कब्जा !!

हाईलाइट्स –
ममता ने पूरे विपक्ष का सफाया कर दिया !
4 नगरपालिकाओं पर किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला !

कोलकाता !!
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल करने के बाद अब सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने बुधवार को नगर निकायों चुनाव में भी पूरे विपक्ष का सफाया कर दिया है सूपड़ा साफ करते हुए राज्य की 107 नगरपालिकाओं में से 93 में जीत दर्ज की है. तृणमूल कांग्रेस ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और नंदीग्राम से विधायक शुभेंदु अधिकारी का ‘गढ़’ मानी जाने वाली कांथी नगरपालिका में भी जीत हासिल की है जबकि उत्तर बंगाल की पहाड़ों की राजनीति में नवआगंतुक ‘हमरो पार्टी’ ने तृणमूल कांग्रेस, गोरखा जनमुक्ति मोर्चा और भाजपा को पछाड़ कर दार्जिलिंग नगरपालिका पर कब्जा जमाया है|

यह भी पढ़ें :- बंगाल निकाय चुनाव परिणाम : रुझानों में भाजपा को झटका, TMC की प्रचंड शुरुआत !!

माकपा को नदिया जिले के ताहेरपुर नगरपालिका में जीत मिली है. अभी तक प्राप्त निकायों के परिणामो में भाजपा और कांग्रेस को में हार का सामना करना पड़ा है, लेकिन ये दल कुछ शहरों के कुछ वार्डों में आगे चल रहे हैं. राज्य निर्वावन आयोग के अधिकारी ने कहा, ‘तृणमूल पहले ही 93 नगरपालिकाओं में जीत दर्ज कर चुकी है जबकि सात अन्य नगरपालिकाओं में उसे बढ़त हासिल है. वाम मोर्चा और हमरो पार्टी ने एक-एक निकाय में जीत दर्ज की है.’ तृणमूल कांग्रेस ने 27 नगरपालिकाओं में सभी वार्डों पर जीत दर्ज कर वहां विपक्ष को शून्य पर पहुंचा दिया है|

नेता प्रतिपक्ष अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी वर्ष 1971 से 2009 के बीच (केवल एक बार वर्ष 1981-86 को छोड़कर) कांथी नगरपालिका के अध्यक्ष रहे हैं सांसद बनने के बाद उन्होंने यह जिम्मेदारी अपने बेटे दिब्येंदु अधिकारी को के लिए छोड़ दी थी दिब्येंदु अधिकारी जब वर्ष 2016 का लोकसभा उपचुनाव जीतकर सांसद बने तो यह पद उनके छोटे भाई सौमेंदु के पास आ गया. पूर्व जीएनएलएफ नेता और दार्जिलिंग के मशहूर रेस्तरां कारोबारी अजॅय एडवर्ड द्वारा बनाई गई हमरो पार्टी ने पांरपरिक रूप से सत्ता में रही जीजेएम, भाजपा और तृणमूल कांग्रेस को हराकर शहर की नगरपालिका पर कब्जा किया है|

यह भी पढ़ें :- TMC के बागियों पर ममता सख्त- 50 से ज्यादा नेता पार्टी से निष्कासित, सैकड़ों निलंबित !!

अधिकारी के मुताबिक, 108 नगर निकायों में चुनाव होने थे लेकिन कूचबिहार जिले की दिनहाटा नगरपालिका में कुछ दिन पहले तृणमूल कांग्रेस निर्विरोध निर्वाचित हुई. विधानसभा चुनाव के करीब 10 माह बाद कराए गए निकाय चुनावो में राज्य के विभिन्न हिस्सों से हिंसा, धांधली और पुलिस से झड़प की खबरें भी मिली हैं. भाजपा ने इस चुनाव प्रक्रिया को ‘लोकतंत्र का मजाक’ करार देते हुए हिंसा के खिलाफ सोमवार को 12 घंटे का बंद बुलाया था. वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने आरोपों को आधारहीन बताया है|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp