मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास पर शिकंजा कसा, सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की धारा बढ़ी !!

हाईलाइट्स –
अब्बास पर दर्ज मुकदमे की विवेचना शुरू !
हम बाहुबली हैं. हमें इससे कोई गुरेज नहीं !
कुछ बैल सींग निकाल कर खड़े हैं !

लखनऊ !!

पूर्वांचल के बाहुबली मुख्तियार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी अब चुनाव के दौरान बयान मामले में घिरते नजर आ रहे हैं, चुनाव के दौरान हाल ही में अब्बास अंसारी ने पुलिस से हिसाब-किताब वाला एक बयान दिया था. आपको बढ़ाते चले अब्बास अंसारी पर दर्ज आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में विवेचना शुरू हो गई है. इसके बाद उन पर शिकंजा कस गया है. अब्बास के खिलाफ दर्ज केस में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की धारा और बढ़ा दी गई है|

चुनाव के दौरान अब्बास अंसारी पर दर्ज हुआ मुकदमा !

आपको बता दें कि, चुनाव के दौरान अब्बास अंसारी पर मऊ जिले की शहर कोतवाली में 3 और दक्षिण टोला थाने में एक दर्ज मुकदमा हुआ था. पहले उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन में मुकदमा हुआ था. लेकिन अब विवेचना के दौरान एक और धारा बढ़ा दी गई है|

मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने मऊ सदर से सुभासपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था.उन्होंने भाजपा से अशोक सिंह को हराकर जीत दर्ज की है चुनाव के दौरान अब्बास अंसारी पर मऊ जिले की शहर कोतवाली में 3 और दक्षिण टोला थाने में एक दर्ज मुकदमा हुआ था. पहले उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन में मुकदमा हुआ था. लेकिन अब विवेचना के दौरान एक और धारा बढ़ा दी गई है|

समय आने दीजिए खूंटे में यहीं नहीं बांध दिया तो कहिएगा !

अपने भाषण में अब्बास अंसारी ने कहा था कि मैं राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी से कह कर आया हूं कि 06 महीने तक किसी की ट्रांसफर पोस्टिंग नहीं होगी. जो जहां है, वहीं रहने वाला है. पहले हिसाब -किताब होगा. उसके बाद उनके जाने पर मुहर लगाई जाएगी. उन्होंने आगे कहा था कि हम बाहुबली हैं. हमें इससे कोई गुरेज नहीं है. मेरे नौजवान साथियों की तरफ कुछ बैल सींग निकाल कर खड़े हैं. समय आने दीजिए खूंटे में यहीं नहीं बांध दिया तो कहिएगा. अखिलेश यादव से मैंने कहा था कि पहले जिन लोगों ने मुकदमे लगाए हैं, उनकी भी जांच पड़ताल कर लिया जाए|

यह भी पड़ें: आसनसोल से लोकसभा उपचुनाव लड़ेंगे शॉटगन सिन्हा !!

अब्बास अंसारी ने कहा था कि पिछली सरकार में सरकार को खुश करने के लिए खास तौर पर कुछ अधिकारियों ने अपनी कुर्सी और अपने पद का गलत इस्तेमाल किया है और जनता को प्रताड़ित किया है और उस जनता की आवाज है कि इसकी जांच हो और जो इसमें गलत पाए जाएंगे, उनके ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए. तभी आगे के लिए मैसेज होगा कि कोई अपने पद की गरिमा तार-तार ना करते हुए जनता के साथ कोई नाइंसाफी ना करे|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp