चीन में बिना लक्षण वाले कोरोना का कहर, सबसे बड़े शहर में लगा लॉकडाउन !!

हाईलाइट्स –
कोरोना फिर से उठा रहा चीन में सिर !
व्यापक स्तर पर पूरे महानगर में जांच शुरू !
पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम पूरी तरह से ठप !

नई दिल्ली !!
चीन में फिर से कोरोना वायरस लौट आया है. लगातार दो दिन से कोरोना के मामले 1200 से ज्यादा दर्ज हो रहे हैं. इसके साथ ही चीन ने अपने देश के सबसे बड़े शहरों में से एक शंघाई को पूरी तरह से लॉकडाउन में डाल दिया है. इसके साथ ही व्यापक स्तर पर पूरे महानगर में कोरोना की जांच शुरू हो गई है. बता दें कि चीन में ये साल 2020 के बाद ये सबसे बड़ा लॉकडाउन है. साल 2020 में चीन ने वुहान में 76 दिनों तक के लिए लॉकडाउन लगा दिया था. यहां ये भी बताना जरूरी है कि चीन में सबसे पहले वुहान में ही कोरोना के मामले सामने आए थे, इसके बाद ये वायरस पूरी दुनिया में फैल गया था|

चीन की वाणिज्यिक राजधानी है शंघाई !

चीन में शंघाई सबसे बड़ा शहर है और देश की वाणिज्यिक राजधानी की पहचान रखता है. इस शहर की आबादी 2.6 करोड़ है. शंघाई के स्थानीय प्रशासन ने बताया कि शंघाई के पुडोंग और आसपास के क्षेत्रों को सोमवार से शुक्रवार तक लॉकडाउन लागू किया गया है. साथ ही बड़े स्तर पर लोगों की कोविड की जांच की जा रही है. शंघाई के स्थानीय प्रशासन ने बताया कि हुआंगपु नदी के वेस्ट साइड में डाउनटाउन क्षेत्र में शुक्रवार से लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है. इसके साथ ही लोगों से अपील की गई है कि वह अपने घरों में ही रहें, बेवजह न निकलें. खाने-पीने की चीजों के लिए ऑनलाइन ऑर्डर करें. सरकारी आदेश में कहा गया है कि सभी आवश्यक दफ्तरों को छोड़कर अन्य दफ्तरों को बंद कर करने के आदेश दिए गए हैं|

यह भी पढ़ें :- पाकिस्तान : अविश्वास प्रस्ताव से पहले इमरान खान को बड़ा झटका, कैबिनेट मंत्री ने छोड़ा साथ !!

पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद !
कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट को हालात सामान्य होने तक बंद करने का फैसला लिया गया है. 26 मिलियन की आबादी वाले शहर शंघाई में अब कई सेक्टरों को बंद कर दिया गया है. जगह-जगह बूथ बनाए गए हैं, जिन पर कोविड की जांच की जा रही है. हालांकि लॉकडाउन से शंघाई की अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ रहा है. क्योंकि कोरोना की वजह से शंघाई का डिज़्नी थीम पार्क पहले से ही बंद है|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp