सिद्धू ने फिर से तीखे किए अपने तेवर, निशाने पर कांग्रेस के कई नेता !!

हाईलाइट्स –
अपनी ही पार्टी के नेताओं की क्लास लेते रहते है सिद्धू !
सिद्धू ने कांग्रेस पार्टी के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया !

चंडीगढ़ !!
पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपनी ही पार्टी के नेताओं की क्लास लेते रहते है सिद्धू पंजाब में कांग्रेस के चुनाव हारने के बाद से लगातार कांग्रेस नेताओ की ईमानदारी पर सवाल उठा रहे हैं. हार के बाद से ही कांग्रेस के कई नेता उनके निशाने पर हैं. सिद्धू दावा करते रहे हैं कि, कांग्रेस में कई नेता भ्रष्ट हैं, लेकिन वह नाम नहीं लेना चाहते. कांग्रेस जब पंजाब की सत्ता में थी तब भी सरकार सिद्धू के निशाने पर रहती थी, लेकिन अब सरकार नहीं है तो उन्होंने और ज्यादा मुखर हो गए हैं उन्होंने कांग्रेस पार्टी के खिलाफ मोर्चा ही खोल दिया है|

यह भी पढ़ें :- CM भगवंत मान का बड़ा फैसला- 184 वीआईपी की सुरक्षा में तैनात कर्मचारी वापस !!

सिद्धू ने हाल ही में कांग्रेस के हार का कारण बताते हुए कहा था, “कांग्रेस हार गई क्योंकि उसके पांच साल के शासन के दौरान स्वार्थी लोगों ने राज्य और लोगो के हितों के बारे में नहीं सोचा और माफिया ने शासन किया. राजकोष का पैसा राजनीति को पेशा मानने वाले लोगों की निजी जेब में जा रहा था. उस समय भी मैं सरकार से सवाल कर रहा था. शराब, रेत आदि से राजस्व नुकसान के बारे में पूछ रहा था”|

चुनाव हारने के बाद सिद्धू पूरे राज्य में घूम रहे हैं. कथित तौर पर प्रतिशोध का सामना करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं को बुला रहे हैं. किसानों से मिल रहे हैं. गेहूं खरीद की जांच के लिए बाजारों का दौरा कर रहे हैं और रेत खनन स्थलों पर जा रहे हैं. दिल्ली की कांग्रेस नेता अलका लांबा को जब दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल के खिलाफ “भड़काऊ बयान” को लेकर रूपनगर में पुलिस के सामने पेश होने का नोटिस मिला तो सिद्धू ने सबसे पहले ट्वीट किया कि वह उनके साथ पुलिस स्टेशन जाएंगे. लेकिन जब उन्होंने चुनाव हारने के बाद पूर्व विधायकों और अन्य असंतुष्ट नेताओं से मिलना शुरू किया, तो कई लोगों ने अनुमान लगाया कि सिद्धू PPCC अध्यक्ष की एक और पारी के लिए समर्थन जुटा रहे हैं|

यह भी पढ़ें :- पंजाब : ड्यूटी के दौरान मौत होने पर, पुलिस कर्मचारियों के परिवार को मिलेगा 1 करोड़ का मुआवजा !!

राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो चुनाव के बाद राजनीति में तेजी से सक्रिय होकर सिद्धू दोबारा से राज्य कांग्रेस की कमान अपने हाथों में लेना चाहते हैं उनकी सक्रियता ने उन्हें जमीन पर पार्टी का सबसे अधिक दिखाई देने वाला नेता बना रखा है. सिद्धू ने हाल ही में मीडिया से कहा था कि, कांग्रेस कुछ 50-60 ईमानदार नेताओं के जरिये लोगों का विश्वास जीत सकती है, जिनके पास भगवंत मान के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी सरकार पर सवाल उठाने का नैतिक अधिकार हो|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp