उत्तराखंड : दो साल बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, दर्शन के लिए उमड़े श्रद्धालु !!

हाईलाइट्स –
एक दिन में सिर्फ 12 हजार श्रद्धालुओं को दर्शन की अनुमति !
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से हो रही है चारों धामों में पहली पूजा !

देहरादून !!
उत्तराखंड देवभूमि में आज से बाबा केदारनाथ धाम के कपाट खुल गए हैं. केदारनाथ धाम के कपाट सुबह 6.25 बजे खुले. दो साल बाद केदारनाथ धाम के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए खुले हैं. मंदिर के कपाट खुलने के पहले दिन ही श्रद्धालुओं का मेला उमड़ पड़ा है. हालांकि एक दिन में सिर्फ 12 हजार श्रद्धालुओं को ही दर्शन की अनुमति दी गई है. बता दें कि गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट 3 मई से ही खुल चुके हैं, तो बद्रीनाथ धाम के कपाट 8 मई को खुलेंगे|

यह भी पढ़ें :- चार धाम यात्रा के लिए उत्तराखंड सरकार ने तय की तीर्थयात्रियों की संख्या !!

बाबा केदारनाथ धाम को 15 कुंतल फूलों से सजाया गया है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत 10 हजार से ज्यादा भक्त बाबा के दर्शन के लिए केदारनाथ धाम में मौजूद रहे. बता दें कि इस साल चारों धामों में पहली पूजा विश्व के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से की जा रही है|

जानकारी के मुताबिक, सरकार ने यात्रियों की संख्या को सीमित किया है. केदारनाथ धाम में हर रोज सिर्फ 12 हजार श्रद्धालु ही दर्शन कर सकेंगे. ये व्यवस्था शुरुआती 45 दिनों तक चलेगी. उत्तराखंड सरकार ने कोरोना को देखते हुए ये फैसला किया है. दिक्कत की बात ये है कि केदारनाथ धाम या चार धाम की यात्रा के लिए आप सीधे नहीं जा सकते, बल्कि इसके लिए पहले से रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है. इसी रजिस्ट्रेशन के आधार पर बाबा केदारनाथ, बाबा बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में दर्शन होंगे|

यह भी पढ़ें :- उत्तराखंड : चार धाम यात्रा के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य !!

उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा के लिए पोर्टल बनाया है. यहीं पर रजिस्ट्रेशन के साथ यात्रियों के ठहरने, खान-पान और पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है. श्रद्धालुओं की संख्या अचानक तेजी से न बढ़ जाए, इसके लिए हर दिन केदारनाथ धाम में 12 हजार श्रद्धालुओं की संख्या तक की गई है. बदरीनाथ धाम में हर दिन 15 हजार, गंगोत्री धाम में 7 हजार तो यमुनोत्री धाम में 4 हजार श्रद्धालुओं को एंट्री दी जाएगी|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp