फतेहपुर : ईंट भट्टे पर काम करने वाले मजदूर दंपति की संदिग्ध मौत !!

हाईलाइट्स –
मृतक के परिजनों ने भट्ठा मालिक पर लगाया हत्या का आरोप !
निसंतान होने पर दोनों के बीच होता था विवाद !
इस घटना को आत्महत्या मानकर चल रही है पुलिस !

फतेहपुर !!
उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में सुल्तानपुर घोष थाने के पीछे एक ईंट-भट्ठे पर मजदूर दंपति का शव मिलने से हड़कंप मच गया. दोनों भट्ठे पर ही झोपड़ी बनाकर ही रहते थे. शादी के 12 साल बाद भी वह निसंतान थे. इसको लेकर दोनों के बीच अक्सर विवाद भी होता था. पुलिस शुरुआती जांच में आत्महत्या मानकर चल रही है, जबकि मृतक के परिजनों ने भट्ठा मालिक पर हत्या का आरोप लगाया है. CO अनिल कुमार ने बताया कि मजदूर दंपति निसंतान थे. दोनों के बीच अक्सर विवाद होता था. दोनों ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की है|

यह भी पढ़ें :- मेरठ : मदरसे में 11 साल के मासूम के साथ हैवानियत, आरोपी मुफ्ती फरार !!

जानकारी के मुताबिक, फ़तेहपुर के खागा कोतवाली क्षेत्र के लौकियापुर गांव का रहने वाला 45 वर्षीय महेश उर्फ दूनी व 40 वर्षीय उसकी पत्नी सिया देवी कई सालों से सुल्तानपुर घोष थाने के पीछे स्थित ईंट-भट्ठे पर पथाई का काम करते थे. शादी के 12 वर्ष बीत जाने के बाद भी निसंतान थे. इसलिए पति-पत्नी में हमेशा विवाद होता था. दोनों भट्ठे में ही झोपड़ी बनाकर रहते थे. भट्ठे पर मौजूद अन्य मजदूरों ने बताया कि शाम शराब पीने के बाद दोनों के बीच विवाद हुआ और करीब रात 11 बजे झोपड़ी के बाहर बने ईंट के चट्टे पर सो गए. सुबह महिलाएं सिया देवी को बुलाने आईं तो देखा कि वह अर्धनग्न हालत में पड़ी है. उसके बगल में महेश भी पड़ा हुआ है. जवाब न देने पर उन्होंने लोगों को बुलाया तो पता चला कि उनकी मौत हो चुकी है|

मजदूर दंपत्ति की संदिग्ध मौत की सूचना पर सुल्तानपुर घोष पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को रिश्तेदारों की सूचना पर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. दोनो के मुंह से खून निकल रहा था. पास में दो डिब्बे भी मिले हैं. पुलिस ने महेश की झोपड़ी और उसके बाहर जहां वे सोते थे सभी जगहों की तलाशी कराई. इस दौरान कोई जहरीला पदार्थ तो नहीं मिला, लेकिन दो प्लास्टिक की डिब्बे जरूर पड़े मिले हैं. इनमें कीटनाशक होने की आशंका जताई जा रही है. इसके अलावा बिस्तर पर खून के धब्बे थे और दोनों के मुंह और नाक से भी खून निकल रहा था. शरीर पर चोट आदि के निशान नहीं थे|

यह भी पढ़ें :- यूपी : भगोड़ा IPS मणिलाल पाटीदार विजिलेंस जांच में दोषी, FIR के आदेश !!

महेश की झोपड़ी के पास ही पड़ोसी पुर्री व उसका परिवार भी रहता था. मृतकों की चीखने-चिल्लाने व छटपटाने तक की आहट किसी को नहीं लगी. पड़ोसियों के मुताबिक पति-पत्नी शराब पीकर अक्सर आपस में झगड़ा किया करते थे. वहीं, सियावती के भाई रामसुमेर का आरोप है कि उसकी बहन व बहनोई को भट्ठा मालिक ने मरवा दिया है. हालांकि पुलिस इस घटना को आत्महत्या मानकर चल रही है|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp