बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट से इंद्राणी मुखर्जी को जमानत !!

हाइलाइट्स –
6.5 साल से जेल में थी इंद्राणी मुखर्जी !
पति पीटर को मिल चुकी है जमानत !

नई दिल्ली !!
देश के बहुचर्चित शीना बोरा मर्डर केस मामले में साढ़े छह साल से अधिक समय से जेल में बंद आरोपित इंद्राणी मुखर्जी की जमानत याचिका पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की. इस दौरान कोर्ट ने बुधवार को इंद्राणी मुखर्जी को जमानत दे दी. शीर्ष अदालत ने जमानत देते हुए कहा कि वह छह साल से अधिक समय से हिरासत में हैं. इंद्राणी मुखर्जी ने दलील दी थी कि उनका मुकदमा 6 साल भी ज्यादा समय से चल रहा है. अभी इसके जल्द निपटारे की कोई संभावना नहीं है आपको बता दें कि, इंद्राणी मुखर्जी CBI की विशेष अदालत की न्यायिक हिरासत में हैं. इंद्राणी मुखर्जी ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी. इंद्राणी मुखर्जी ने जनवरी में जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ एक विशेष अनुमति याचिका (SLP) दायर की थी|

साल 2015 के अगस्त महीने में इंद्राणी मुखर्जी को शीना बोरा हत्याकांड मामले में गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से इंद्राणी मुखर्जी को मुंबई की बायकुला महिला कारागार में बंद किया गया था. साल 2012 से CBI इस मामले की जांच कर रही है. आरोप है कि, इंद्राणी मुखर्जी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना और पीटर मुखर्जी ने 2012 में उनकी बेटी शीना बोरा की हत्या कर दी थी|

यह भी पढ़ें :- वीजा भ्रष्टाचार मामला : लंबी पूछताछ के बाद कार्ति चिदंबरम का करीबी गिरफ्तार !!

आरोपित पीटर मुखर्जी को साल 2020 में जमानत मिल गई थी. CBI ने इंद्राणी मुखर्जी के जमानत का विरोध किया था. CBI ने कहा था कि योजना बना कर अपनी ही बेटी की हत्या करने का जघन्य अपराध इंद्राणी ने किया है, जो नरमी दिखाने के काबिल नहीं है. बता दें कि, शीना बोरा इंद्राणी मुखर्जी और उनके पहले पति की बेटी थी, जिसकी साल 2012 में 24 अप्रैल को गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी और उसके शव को जला दिया गया था. पूरा मामला साल 2015 में प्रकाश में आया था|

Pinterest
LinkedIn
Share
Telegram
WhatsApp